आर्थिक चर्चा/ अनिवासी को रियल इस्टेट निवेश में आ रही हैं कठिनाइयां

पंकज गांधी अर्थव्यवस्था का कैसा भी दौर हो, अनिवासियों का निवेश हमेशा एक संजीवनी की तरह काम करता है। यह संजीवनी देश के लिए या

‘सुहागन चुड़ैल’ में निया शर्मा के साथ नजर आएंगे शहजादा धामी

सुभाष शिरढोनकर स्टार प्लस के पॉपुलर सीरियल ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ में अरमान पोद्दार का किरदार निभाने वाले एक्टर शहजादा धामी को उनके अनप्रोफेशनल

‘हमारे बारह’ पर सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाएं, फिल्मी के खिलाफ मुस्लिम महिलाएं आएं आगे 

गौतम चौधरी  लंबे अरसे से विवादों में रही ‘हमारे बारह’ फिल्म को आखिरकार सिनेमाघरों तक पहुंचने की हरी झंडी मिल गई। हालांकि इस फिल्म के

पहले प्रदेश नेतृत्व पर चर्चा हो फिर हार की समीक्षा करे झारखंड भाजपा 

गौतम चौधरी  इन दिनों झारखंड सहित पूरे देश में भारतीय जनता पार्टी अपने हार की समीक्षा कर रही है। विगत दिनों हार की समीक्षा के

पसमांदा आन्दोलन भारतीय मुसलमानों के अधिकारों का संरक्षक

हसन जमालपुरी आज के भारत में, पसमांदा आंदोलन हाशिए पर पड़े मुस्लिम समुदायों के अधिकारों और मान्यता की वकालत करने वाली एक महत्वपूर्ण शक्ति के

मोदी सरकार के शपथ ग्रहण से पहले दिल्ली में पर्दे के पीछे से घटी कुछ खास घटनायें

अशोक कुमार झा लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद यह स्पष्ट हुआ कि भाजपा को केवल 240 सीटें मिलेंगी। उस समय पीएम मोदी, राजनाथ सिंह,

उम्माह की अवधारणा आदर्श लेकिन इसे धार्मिक अनुष्ठानों तक ही सीमित रखना बेहतर होगा 

गौतम चौधरी  अभी पूरी दुनिया के मुसलमान हज करने मक्का जा रहे हैं। यह यात्रा पूरी दुनिया से लगातार जारी है। इस बीच सऊदी अरब

नरेन्द्र मोदी व भाजपा को नैतिकता की पाठ पढ़ाने से पहले RSS को अपने गिरेबान में झांकना चाहिए

गौतम चौधरी संसदीय आम चुनाव 2024 में भारतीय जनता पार्टी की हार को लेकर हिन्दू राष्ट्र विचार परिवार का प्रतिनिधि संगठन, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, बेहद

लोकतंत्र के लिए खतरनाक साबित हो सकता है ग्राम प्रचायतों के अधिकारों में कटौती  

अमित शुक्ल  संसदीय आम चुनाव 2024 में लोकसभा के कुल 398 ग्रामीण सीटों में से भारतीय जनता पार्टी को मात्र 165 सीटें ही मिल पायी,

उम्माह की अवधारणा को राजनीतिक रूप देना राष्ट्र-राज्य की अवधारणा के खिलाफ 

हसन जमालपुरी  वैश्विक उम्माह की अवधारणा, मुसलमानों का विश्वव्यापी समुदाय जो अपने विश्वास के कारण एकजुट है, निःसंदेह मानवता के एक आदर्श तो जरूर है।

1 2 3 67
Translate »