पत्रकारों को फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स घोषित करे सरकार : बाबूलाल

पत्रकारों को फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स घोषित करे सरकार : बाबूलाल

रांची/ राज्य में अबतक कोरोना संक्रमण से 19 पत्रकारों की मृत्यु हो चुकी है। पत्रकारों के लिए राज्य सरकार प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण कराने की व्यवस्था करे। उक्त बातें आज कोरोना संक्रमण को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी के विधायक दल के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कही है।

भाजपा नेता ने कहा कि संक्रमित पत्रकारों के बेहतर ईलाज की व्यवस्था समेत कई सुविधा उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने राज्य सरकार से मांग करते हुए कहा कि पत्रकारों को फ्रन्टलाईन कोरोना वॉरियर्स के रूप में मान्यता दी जाय, जान गंवा चुके पत्रकारों के परिजनों का यथाशीघ्र कोविड टेस्ट कराने की व्यवस्था, झारखण्ड के विभिन्न जिलों में जान गंवाने वाले पत्रकारों के परिजनों के लिए तत्काल राहत सामग्री उपलब्ध कराया जाए। मरांडी ने मृतक पत्रकार आश्रितों के लिए एकमुश्त सहायता राशि की भी मांग की है। साथ ही सरकार को यह भी का कि परिजनों को भरण-पोषण के लिए सरकार नियम बनाकर मासिक पेंशन देने की व्यवस्था करे।

उन्होंने कहा कि कोविड फेज-2 महामारी में झारखण्ड सहित पूरे देश में संक्रमित मरीजों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि हो रही है और मृत्युदर में भी वृद्धि हुई है। इस क्रम में झारखण्ड के कई नामी-गिरामी पत्रकार भी कोरोना से संक्रमित होकर अपनी जान गवां बैठे हैं। लोकतंत्र का चैथे स्तम्भ के प्रहरी के रूप में काम करने वाले ये पत्रकार बहुत अल्प वेतन पर काम करते हुए आमजनों को देश-प्रदेश के समाचारों से अवगत कराते रहे हैं। विजुअल मीडिया हो या प्रिन्ट मीडिया, इसमें काम करने वाले सभी पत्रकार अपने जान की परवाह किए बिना समाचार संकलन करते हैं और लोगों तक देश-प्रदेश, एवं समाज के सभी तरह के समाचारों से सरकार और शासन चलाने वाले पदाधिकारियों को अवगत कराते हैं। इस क्रम में कई बार अनेक पत्रकारों के साथ कई घटनाएँ भी हो जाया करती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »