नागरिकों को कीमती जानें बचाने के लिए ‘सड़क सुरक्षा मेरा फर्ज’ प्रण लेने की अपील

नागरिकों को कीमती जानें बचाने के लिए ‘सड़क सुरक्षा मेरा फर्ज’ प्रण लेने की अपील

जालंधर/ पंजाब के ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग ने सड़क सुरक्षा प्रोटोकोलज को मिशन मोड पर लागू करने को यकीनी बनाने की तत्काल जरूरत पर जोर देते हुए रविवार को कहा कि हादसों में जाने वाली हर जान पूरे राष्ट्र का नुक्सान है।

वड़िंग ने नागरिकों को अपने रोजाना के व्यवहार में ट्रैफिक नियमों की पालना को अपनाने की भावनात्मक अपील करते हुए कहा कि आओ, आज बाल दिवस पर हम सभी अपने राज्य को अपने बच्चों के लिए सबसे सुरक्षित बनाने का प्रण करें और इसकी शुरूआत सड़क से करें।

बाल दिवस मौके सुबह यहाँ से राज्य व्यापक सड़क सुरक्षा अभियानश्नौ -चालान डेश्की शुरूआत करते हुए श्री वड़िंग ने राज्य में सड़क मौतों की औसत उच्च दर पर गहरी चिंता जाहिर करते हुए विभाग को आदेश दिए कि बच्चों की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए स्कूली क्षेत्रों के अंदर कम और सुरक्षित गति सीमा को सख्ती से लागू करने को यकीनी बनाया जाये।

उन्होंने कहा कि हादसों से बचने और कीमती जानों को बचाने के मिशन में जीत प्राप्त करने के लिए, आज एक ठोस पहुँच, जिसमें हर किसी की तरफ से एक सक्रिय भागीदार के तौर पर भूमिका निभाई जाती है, की जरूरत है।

यहाँ बी.एम.सी. चैक में ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों को सड़क सुरक्षा की शपथ दिलाते हुए मंत्री ने जहाँ उनको यातायात के नियमों का पालना करने की अपील की ,वहां पहनने के लिए उनको नये हेलमेट भी दिए। इसके साथ ही ट्रैफिक नियमों प्रति जागरूकता फैलाने के लिए बैज भी लगाए गए।

वड़िंग ने कहा कि पंजाब सड़क हादसों में रोजाना की 10 -12 कीमती जानें गवां रहे है, जो कि गंभीर चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि यदि हम अपने बच्चों के लिए सुरक्षित सड़क वातावरण को यकीनी बनाने के लिए अभी कार्यवाही करे तो यह बहुत ही अफसोसनाक होगा, जिस की सामुहिक जिम्मेदारी हमारी सब की होगी। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत आपके और मेरे से हमारे घरों से और हमारे स्कूलों से बच्चों को ट्रैफिक नियमों बारे जागरूक करने के साथ होती है। उनहोंने कहा कि आज प्रमुख जरूरत ट्रैफिक नियमों की पालना के लिए आदर पैदा करने की है।

वड़िंग की तरफ से सितम्बर के आखिरी हफ्ते विभाग का कार्यभार संभालने के बाद फील्ड में आर.टी.एज के कामकाज को सुचारू बनाने के इलावा राज्य के ट्रांसपोर्ट संस्थानों पी.आर.टी.सी. और पंजाब रोडवेज की कुशलता को ओर बढ़ाने के लिए सक्रियता के साथ कदम उठाए जा रहे है।

आज पंजाब भर में 100 स्थानों पर शुरू की गई यह नई पहल लंबे समय तक चलाई जाने वाली सड़क सुरक्षा अभियान का एक हिस्सा है और इसका उद्देश्य मिशन को एक जन आंदोलन बना कर यात्रियों में जिम्मेदारी की भावना को उत्साहित करना है। मंत्री ने कहा कि हमारी तरफ से महीनो में दो बार इस पहलकदमी का आयोजन किया जायेगा जिससे यह यकीनी बनाया जा सके कि हम अपने सड़क उपयोग करने विशेष तौर पर हमारे युवाओं में नियमितता और अनुशासन की भावना पैदा करन में पीछे न रह जाऐं।

अधिक से अधिक ट्रैफिक साक्षरता प्राप्त करने के लिए विभाग की तरफ से लगातार किये जा रहे प्रत्यनों की प्रशंसा करते हुए वड़िंग ने उनको भविष्य में भी इसी जोश और उत्साह के साथ काम को जारी रखने के लिए कहा।

पुलिस विभाग, पंजाब यूथ कांग्रेस, नैशनल स्टूडैंट्स यूनियन आफ इंडिया (ऐन.ऐस.यू.आई) पंजाब और महिला कांग्रेस के इलावा सिविल सोसायटी एन एस एस और गैर सरकारी संगठनों के सक्रिय सहयोग के साथ मुसाफिरों में यातायात और सड़क जागरूकता के प्रसार के लिए सक्रिय भागीदारी के लिए राज्य भर में 100 स्थानों पर इस अभियान को एक ही समय आयोजित किया गया। ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों को सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक चालान जारी करने की बजाय उनको अपनी और सड़क पर सफर करने वाले दूसरे लोगों की सुरक्षा प्रति जागरूक करने के लिए शपथ दिलाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »