किसान आन्दोलन के समर्थन में CPI ने लिया संकल्प

किसान आन्दोलन के समर्थन में CPI ने लिया संकल्प

रांची/ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य कार्यालय में आज, साल भर पहले मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस द्वारा गोली चला देने के कारण मारे गए 6 किसानों की याद में सांकेतिक कार्यक्रम किया गया।

इस कार्यक्रम के संदर्भ में प्रदेश कार्यालय सचिव एवं जिला सचिव अजय कुमार सिंह ने बताया कि आज यानी रविवार को पूरे देश में किसान एकता संकल्प दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। उसी क्रम में आज भाकपा राज्य कार्यालय में भी संकल्प दिवस मनाया गया और संकल्प लिया गया।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की राज्य इकाई ने आज एक संकल्प पत्र भी जारी किया। उसमें उन्होंने लिखा है कि हम किसान तीन कृषि विरोधी कानूनों को रद्द कराने, सभी कृषि उत्पादों की लागत से डेढ़ गुना दाम पर खरीद की कानूनी गारंटी देने और बिजली संशोधन बिल 2020 को रद्द कराने की मांग को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा के नेतृत्व में दिल्ली की बॉर्डरों पर और देश भर में 192 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं, जिसमें हमारे 500 से अधिक किसान साथी शहीद हो चुके हैं, उनके साथ खड़े हैं।

आज ही के दिन 6 जून 2017 को मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा मंदसौर में समर्थन मूल्य की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों पर गोली चलवाई गयी थी। उस गोली-बारी में कम से कम 6 किसान शहीद हुए थे। हमने मंदसौर से शहीद किसानों से प्रेरणा लेकर अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति का गठन किया था, सम्पूर्ण कर्जा मुक्ति और पूरा दाम के लिए कानून बंनाने की लड़ाई लड़ी गयी। आज उसी आन्दोलन की परिणति दिल्ली बाॅडर पर दिखाई दे रही है।

वहां दूसरी ओर भाजपा सरकार ने दोषी अधिकारियों पर हत्या का मुकदमा चलाने की बजाय उन्हें क्लीन चिट दे दी गयी। सरकार ने समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने की मांग को भी अस्वीकार कर दिया है। ऐसे में अब लड़ाई ही एक मात्र विकल्प बचा है।

अजय ने बताया, हमलोगों ने संकल्प लिया है कि जब तक केंद्र सरकार तीन कृषि कानूनों को रद्द करने, सभी कृषि उत्पादों की लागत से डेढ़ गुना दाम पर खरीद की कानूनी गारंटी देने, बिजली संशोधन बिल 2020 वापस नहीं लेती तब तक हमारा सतत संघर्ष जारी रहेगा।

हम संकल्प लेते हैं कि समाजहित, देश हित और संविधान के मूल्यों को पुनस्थापित करने हेतु किसान आंदोलन को सफल बनाने के लिए तन-मन-धन लगाकर शहीद किसानों के सपनों को साकार करने के लिए हम हर कुर्बानी देने को तैयार रहेंगे।

हम किसान आंदोलन के उद्देश्यों को गांव गांव तक पंहुचाएंगें तथा किसान -मजदूर विरोधी सरकार की नीतियों के खिलाफ व्यापक एकजुटता बनाकर लड़ते रहेंगे और जीतेंगे। संकल्प लेने में मुख्य रूप से जिला सचिव अजय सिंह, इफ्तेखार अहमद, दिलीप तिवारी, मनोज ठाकुर, राजेश वर्मा, बीरेंद्र विश्वकर्मा अदि कई कार्यकर्ता शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »