स्वस्थ प्रतिस्पर्धा में ही यकीन करती हूं : अनन्या पांडे

स्वस्थ प्रतिस्पर्धा में ही यकीन करती हूं : अनन्या पांडे


सुभाष शिरढोनकर

स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 (2019) से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाली, अनन्या पांडे अब तक ’पति पत्नी और वो’ (2019) एवं ’खालीपीली’ (2020) जैसी फिल्मों में नजर आ चुकी हैं। पहली ही फिल्म ’स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ (2019) के लिए बेस्ट डेब्यू का फिल्मफेयर अवार्ड हासिल कर लेने वाली अनन्या पांडे की अपकमिंग फिल्म विजय देवरकोंडा के साथ ’लाइगर’ है। ’लाइगर’ टायटल लॉयन और टाइगर को आपस में मिलाकर रखा गया है। चार भाषाओं में बन रही इस एक्शन थ्रिलर में अनन्या का एक्शन अवतार होगा। इसके जरिए विजय देवरकोंडा बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रहे हैं। करण ’जौहर फिल्म के निर्माता हैं। ’पति पत्नी और वो’ (2019) में अनन्या ’वो’ बनी थी। ’खालीपीली’ (2020) में वो ईशान खट््टर के साथ रोमांस करते नजर आई थीं। अनन्या खुद को साबित करने के लिए, हर फिल्म के लिए जमकर मेहनत कर रही हैं। जोया अख्तर की अगली फिल्म में, अनन्या पांडे के होने की अटकलें लगाई जा रही हैं। काफी समय से जोया और अनन्या के बीच इस फिल्म को लेकर बातचीत चल रही है।

प्रस्तुत हैं अनन्या पांडे के साथ की गई बातचीत के मुख्य अंश : –

आपके प्रशंसकों को आपसे काफी अधिक उम्मीदें हैं। इसका कितना दबाव महसूस करती हैं?
दबाव तो है, लेकिन सबसे दिलचस्प बात यह है कि यह मुझे प्रेरित करता है कि मैं पहले से बेहतर करूं। मेरे कैरियर की बस अभी शुरूआत ही हुई है। मैंने अभी ज्यादा फिल्में नहीं की हैं। इतने कम काम के बावजूद इतनी बड़ी फैन फॉलोइंग देखकर जितनी खुशी होती है, उससे कही ज्यादा आश्चर्य होता है। लोग मुझसे बेहतर की उम्मीद करते हैं, मेरे लिए इससे बढ़कर प्रेरणादायक और कुछ भी नहीं हो सकता।

अपनी अपकमिंग फिल्मों को लेकर क्या सोचती हैं?
मैं बेहद रोमांचित हूं। मेरे पास अलग अलग तरह की फिल्में हैं। शकुन बत्रा की दीपिका पादुकोण और सिद्धांत चतुर्वेदी के साथ वाली फिल्म के अलावा विजय देवरकोंडा के साथ ’लाइगर’ की शूटिंग कर रही हूं। दोनों फिल्में एक दूसरे से बिलकुल अलग हैं।

आपको किस तरह की फिल्में करना ज्यादा अच्छा लगता है?
एक्शन और कॉमेडी जोनर मुझे ज्यादा पसंद है। मैं एक फुल एक्शन फिल्म करना चाहती हूं। मुझे डेविड सर की फिल्में बहुत पसंद हैं। उनकी फिल्म ’आंखें’, जिसमें मेरे डैड थे, यदि उसका रीमेक बने तो जरूर करना चाहूंगी।

जाह्नवी कपूर और सारा अली खान के साथ आपका जबर्दस्त प्रतिस्पर्धा मानी जा रही है?
मैं सिर्फ स्वस्थ प्रतिस्पर्धा में यकीन करती हूं। यह बहुत मजेदार और प्र्रेरित करने वाला हो सकता है। मुझे सचमुच बेहद खुशी होती है जब अपनी उम्र के लोगों को कुछ अच्छा करते हुए देखती हूं। उस वक्त उनकी प्रशंसा पर मुझे यही लगता है कि काश मैं उनसे भी ज्यादा अच्छा कर सकूं।

शाहरूख खान की बेटी सुहाना, आपकी खास फ्रेंड है। क्या उन्होंने कभी आपको एक्टिंग के टिप्स दिए?
सच कहूं तो मैंने एक्टिंग, सुहाना से ही सीखी है। चाहती हूं कि उनके पास जो एक्टिंग और डॉसिंग स्किल है, उसे पूरी तरह सीख सकूं। वैसे मैं हर किसी से कुछ न कुछ सीखती रहती हूं।

अपनी मम्मी और डैडी में से आप, किसके ज्यादा करीब हैं?
मुझे लगता है कि मैं डैडी से कहीं ज्यादा इंस्पायर हूं। उनकी तरह मैंने भी हर हाल और हर परिस्थिति में सकारात्मक रहने की आदत पाई है। मैं हमेशा खुश रहने की कोशिश करती हूं और ज्यादातर चीजों को दिल पर नहीं लेती। अपनी आलोचनाओं के लिए, आलोचकों के साथ मिलकर, उन पर खूब हंसती हूं।

लोकप्रियता और कामयाबी अच्छे अच्छों का हुलिया बिगाड़कर रख देती है। इससे बचने के लिए क्या सोच रखा है?
मुझे पता है कि कामयाबी की कोख से घमंड का जन्म होता है। परंतु मेरे करीबी और परिवार के सदस्य मुझे इससे बचाए रखने की कोशिश करते रहते हैं।

(अदिति)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »