दक्षिण अफ्रीका : रंगभेद विरोध के प्रतीक नहीं रहे भारतीय मूल के इब्राहिम इस्माइल

दक्षिण अफ्रीका : रंगभेद विरोध के प्रतीक नहीं रहे भारतीय मूल के इब्राहिम इस्माइल

नई दिल्ली/ रंगभेद विरोध के प्रतीक रहे भारतीय मूल के इब्राहिम इस्माइल इब्राहिम का निधन हो गया है। वह 84 वर्ष के थे। दक्षिण अफ्रीका की सत्तारूढ़ पार्टी ‘अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस’ (एएनसी) ने यह जानकारी दी।

एएनसी ने एक बयान में बताया कि इब्राहिम का लंबी बीमारी के बाद सोमवार को घर पर ही निधन हो गया। ट्विटर पर साझा किए गए बयान में पार्टी ने कहा, ‘‘एएनसी को इब्राहिम इस्माइल इब्राहिम के निधन के बारे में पता चला है। हम उनकी पत्नी, बच्चों, परिवार, दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। कॉमरेड एबी, लंबे समय तक एएनसी के सदस्य रहे, एक देशभक्त जिन्होंने विनम्रता, समर्पण तथा उत्कृष्टता के साथ अपने देश की सेवा की।’’

इब्राहिम को कॉमरेड एबी भी कहा जाता था। इब्राहिम ने नेल्सन मंडेला और अहमद कथराडा के साथ राजनीतिक बंदी के रूप में रोबेन द्वीप पर कई साल जेल में बिताए थे। दक्षिण अफ्रीका में भारतीयों के आंदोलन पर रोक लगाने वाले कानूनों का उल्लंघन करने पर पिता को दो बार गिरफ्तार किए जाने के बाद, इब्राहिम 13 साल की उम्र में ही मुक्ति संग्राम का हिस्सा बन गए थे।

वह अक्सर इस बात का जिक्र करते थे कि कैसे वह महात्मा गांधी की सत्याग्रह शैली से प्रेरित हुए, जिसका इस्तेमाल उन्होंने श्रीलंका, फलस्तीन, रवांडा, कोसोवो, बोलीविया और नेपाल में वैश्विक संघर्ष की स्थितियों में एएनसी का प्रतिनिधित्व करते हुए किया।

‘कांग्रेस ऑफ बिजनेस एंड इकोनॉमिक्स’ (पूर्ववर्ती ट्रांसवाल भारतीय कांग्रेस की एक शाखा) ने इब्राहिम को 2018 में ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड’ से सम्मानित किया था।

इब्राहिम के परिवार में उनकी पत्नी शैनन और दो बच्चे हैं। शैनन ‘इंडिपेंडेंट मीडिया’ समूह की एक जानी-मानी विदेशी समाचार लेखक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »