मुख्यमंत्री रूपाणी का बड़ा फैसला, ध्वस्त हो चुके मकानों के लिए सरकार देगी इतनी राशि

मुख्यमंत्री रूपाणी का बड़ा फैसला, ध्वस्त हो चुके मकानों के लिए सरकार देगी इतनी राशि

अहमदाबाद/ मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता में शनिवार को हुई कोर कमेटी की बैठक में राज्य में हाल ही में आए चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ के परिणामस्वरूप मकानों और झोपड़पट्टियों आदि को हुए नुकसान के संबंध में राज्य सरकार की ओर से सहायता देने का अहम निर्णय लिया गया है।

चक्रवात के परिणामस्वरूप ढह चुके कच्चे या पक्के मकानों, झोपड़ों तथा आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त कच्चे मकानों आदि के संबंध में प्रभावित क्षेत्रों में जिला तंत्रों की ओर से सर्वे का काम शुरू किया गया है।

शहरी विकास तथा पंचायत एवं ग्राम विकास विभाग की ओर से प्रभावित क्षेत्रों में ऐसे सर्वे के लिए अन्य जिलों से अतिरिक्त मानवबल बुलाकर उनकी भी सेवाएं लेकर सर्वे के कार्य को तेज किया गया है।

चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ की गंभीरता को ध्यान में लेते हुए ऐसे मकानों को पहुंचे नुकसान के संबंध में मुख्यमंत्री ने नुकसान सहायता के मापदंड घोषित किए हैं।

‘तौकते’ तूफान के परिणामस्वरूप राज्य में पूर्ण रूप से ध्वस्त हो चुके मकानों के लिए राज्य सरकार की ओर से 95,100 रुपए की सहायता दी जाएगी।

वहीं, ऐसे मकान जिसकी छप्पर या टीन शेड उड़ गए हों अथवा दीवार गिर गई हो, ऐसे आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त कच्चे या पक्के मकान मकानों के लिए 25,000 रुपए की सहायता दी जाएगी। इस चक्रवात के चलते ढह चुके झोपड़ों के लिए 10,000 रुपए की सहायता तथा पशु रखने की जगह-गमाण या वाड़ा को पहुंचे नुकसान के लिए राज्य सरकार 5,000 रुपए की सहायता देगी। मुख्यमंत्री ने राज्य में ऐसे मकानों के वर्तमान में जारी सर्वे के कार्य को तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए हैं।

प्रदेश के उप मुख्यमंत्री नितिनभाई पटेल शिक्षा मंत्री भूपेन्द्रसिंह चूड़ास्मा, गृह राज्य मंत्री प्रदीपसिंह जाडेजा, मुख्य सचिव अनिल मुकीम, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव के. कैलाशनाथन, अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार, ए.के. राकेश और एम.के. दास तथा स्वास्थ्य विभाग की प्रधान सचिव डॉ. जयंति रवि सहित कई वरिष्ठ सचिव इस बैठक में उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »