मासस और भाकपा (माले) की संयुक्त संकल्प सभा 28 जुलाई को, दीपांकर भी होंगे शामिल

मासस और भाकपा (माले) की संयुक्त संकल्प सभा 28 जुलाई को, दीपांकर भी होंगे शामिल


रांची/ भाकपा-माले झारखंड राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद और मार्क्सवादी समन्वय समिति के केंद्रीय महासचिव हलधर महतो ने संयुक्त प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि दोनों पार्टियां मिलकर कामरेड ए के राय की बरसी 21 जुलाई से कामरेड चारू मजूमदार की शहादत तिथि 28 जुलाई तक झारखंड में संकल्प सप्ताह का आयोजित कर रही है। इस संकल्प सप्ताह का समापन 28 जुलाई को रांची में संकल्प सभा के रूप में होगा।

विदित हो कि 28 जुलाई भाकपा-माले के संस्थापक महासचिव कामरेड चारू मजुमदार की शहादत तिथि है। दोनों नेताओं ने अपने बयान में कहा है कि दोनों साम्यवादी पार्टियां मिलकर पूरे प्रदेश में अभी तक कई सभाएं कर चुकी है। 21 जुलाई से शुरू की गयी सभाओं का सिलसिला लगातार चल रहा है। 26 जुलाई तक पूरे प्रदेश में कुल छह बड़ी सभाएं की गयी है। निरसा, गिद्दी, मेदिनीनगर, धनवार, देवघर और बोकारो में संकल्प सभाएं हो चुके है। 28 जुलाई को रांची के लोयला स्कूल के हाॅल में दिन दिन के 11 बजे से शाम 04 बजे तक संकल्प सप्ताह का समापन कार्यक्रम किया जाएगा।

संकल्प सप्ताह में मजदूर, गरीब किसानों और आदिवासियों के संघर्ष के सही दिशा देने वाले दोनों नेताओं के विचारों से दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं को अवगत कराया जाएगा।

साम्यवादी नेताओं ने कहा कि सिद्धू-कान्हू और बिरसा मुंडा की धरती झारखंड में शोषण दमन के खिलाफ मुखर आवाज रहे कामरेड ए के राय ने सुदखोरों-माफीयायों और हर लूट-दमन के खिलाफ जुझारू संघर्षों का सिलसिला प्रारंभ किया था। अनेकों लाल झंडा के सिपाही शहादत देकर उस संघर्ष को बढ़ाते रहे। आज काॅरपोरेट लूट के खिलाफ फिर से संघर्ष तेज करने की जरूरत है। झारखंड की जमीन खनिज को लूटने वाले, यूवाओं को दर दर भटकने को मजबूर करने वाले काॅरपोरेट राज के खिलाफ मजबूत आंदोलन समय की मांग है।

दोनों नेताओं ने कहा कि झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार को भाजपा अस्थिर करने की कोशिश कर रही है। वैसे समय में जब महेंद्र सिंह जैसे नेता जो खरीद फरोख्त की राजनीति के खिलाफ संघर्ष के प्रतीक थे 28 जुलाई की संकल्प सभा और अधिक महत्वपूर्ण हो गई है। खरीद फरोख्त की राजनीति के खिलाफ हम सड़कों पर मुखर आवाज बनेंगे।

संघर्ष के प्रतीक इन दोनों नेताओं ने गरीबों की सेवा में, नए समाज के निर्माण में पूरी जिंदगी लगा दी। इन दोनों नेताओं से सीखते हुए हमें झारखंड नवनिर्माण की लड़ाई को, झारखंड को लालखंड में बदलने की उनकी आकांक्षा को साकार करने की मुहिम तेज करनी है। इसीलिए इन दोनों नेताओं की कुर्बानियों से शिक्षा लेकर हमें झारखंड में संघर्ष को नई उंचाई प्रदान करने का संकल्प लेना है।

नेता द्वय ने कहा कि 28 जुलाई की संकल्प सभा को भाकपा-माले के राष्ट्रीय महासचिव कामरेड दीपंकर भट्टाचार्य, विधायक विनोद सिंह, पूर्व विधायक राजकुमार यादव, मासस के केंद्रीय अध्यक्ष कामरेड आनंद महतो, महासचिव हलधर महतो, पूर्व विधायक अरूप चटर्जी, मजदूर नेता मिथलेश सिंह समेत झारखंड के दोनों पार्टियों के सभी नेता शामिल रहेंगे। इस संकल्प सभा में हम फादर स्टेन स्वामी के अधूरे सपनों को भी साकार करने का संकल्प लेंगे। हमारे प्रेरणा स्त्रोत रहे कामरेड गुरूदास चटर्जी और कामरेड महेंद्र सिंह के विचार भी इस सभा के महत्वपूर्ण अंग होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »