नरी शक्ति दिवस के रूप में मनाया गया महारानी लक्ष्मीबाई का जन्म दिवस, ABVP किया कार्यक्रम

नरी शक्ति दिवस के रूप में मनाया गया महारानी लक्ष्मीबाई का जन्म दिवस, ABVP किया कार्यक्रम

रांची/ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् रांची महानगर ने संत जोसेफ बालिका मध्य विद्यालय सामलोंग के प्रांगण में रानी लक्ष्मी बाई के जन्मदिवस को नारी शक्ति दिवस के रूप में मनाया। समाज सेवी मुकेश मुक्ता ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि रानी लक्ष्मी बाई जी जिसने अपने देश के लिए अंग्रेजों से लोहा लिया था। रानी लक्ष्मी बाई के वीरता के वृतांतों के बताते कहा कि महिलाओं को अपने अधिकारों के बारे मे सजग होकर देश के विकास मे अपना महत्वपूर्ण योगदान देना चाहिए।

अगले वक्ता कौशल चैधरी ने कहा कि परिषद का यह कार्यक्रम हमेशा हम सभी को कुछ न कुछ सिखाता है एवं हर साल परिषद मातृ शक्ति का राष्ट्र के योगदान के बारे में समाज में जागरण के उद्देश्य से कार्यक्रम को आयोजित करता है।

उपस्थिति जन को संबोधित करते हुए प्रतिमा कुमारी ने बताया कि परिषद् के कार्यक्रम ऐसा होता है जिससे समाज जान सके कि इस देश की महिलाएं का योगदान भी देश के विकास में कम नहीं है। सभी उपस्थित बच्चीयों एवं महिलाओ को रानी लक्ष्मी बाई जी से प्रेरणा लेनी चाहिए एवं अपने आप को किसी से कम नहीं नही समझना चाहिए है। आज देश के प्रत्येक हिस्से जैसे सेना चिकित्सा राजनीति शिक्षा के क्षेत्र में पुरुषों के समान कार्य कर रही है। हमें अपनी क्षमता को पहचाना होगा और रानी लक्ष्मी बाई के समान देश हित में बढ़चढ़ कर योगदान देना चाहिए।

वही सभी मंचासीनों ने गीता खलखो, जो कि वुशु में भारत की तरफ से नेतृत्व कर पूरे देश की मान बड़ा चुकी है उसे समानित किया। गीता खलखो ने कहा कि हम अबला नही तूफान है, हम भारत की शान है। एवं समाज एवं देश मे हम नारी शक्ति का भी बहुत योगदान है। आप सभी बहनों से यही कहना है कि आप भी अपने अंदर प्रतिभा को पहचान देश एवं राज्य का नाम रौशन करे।

कार्यक्रम समापन में धन्यवाद ज्ञापित करते हुए शिवम केशरी ने कहा की रानी लक्ष्मी बाई का देश के हित योगदान अनुकरणीय रहा उनकी वीरता के किस्से जनमानस में छाए हुए है। इस कार्यक्रम में आप सभी उपस्थित हुए सभी का आभार।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »