वरुण का कांग्रेस में स्वागत करने वाले नेता को पार्टी ने थमाई नोटिस

वरुण का कांग्रेस में स्वागत करने वाले नेता को पार्टी ने थमाई नोटिस

लखनऊ/ सांसद एवं भारतीय जनता पार्टी के नेता, वरुण गांधी को कांग्रेस पार्टी में स्वागत करने वाले नेता को पार्टी ने कारण बताओ नोटिस थमा दिया है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में कांग्रेस के एक स्थानीय नेता, इरशाद उल्लाह को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और भाजपा सांसद वरुण गांधी की तस्वीरों के साथ पोस्टर साझा करने के लिए कारण बताओ नोटिस दिया गया है।

इधर इरशाद द्वारा जारी पीलीभीत से लोकसभा सांसद का स्वागत करने वाला पोस्टर भी सोशल मीडिया पर खूग वायरल हो रहा है। पोस्टर में प्रयागराज शहर कांग्रेस कमेटी के सचिव इरशाद उल्लाह और शहर कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष अभय अवस्थी के फोटो भी लगे हैं।

बता दें कि लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद कृषि कानूनों खिलाफ और किसानों के लिए न्याय की मांग को लेकर वरुण गांधी चर्चा में बने रहे हैं। उन्होंने अपनी ही पार्टी की आलोचना की और किसानों के लिए न्याय मांगा।

इसके बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ. जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी कार्यसमिति की घोषणा की जिसमें वरुण एवं उनकी मां मेनका गांधी का नाम नहीं था।

इधर मीडिया रिपोर्ट में इस बात की खूब चर्चा हो रही है कि वरूण कांग्रेस में जा सकते हैं। इसी बात से उत्साहित प्रयागराज के कांग्रेसी नेता ने पोस्टर चिपकवा दिया। अब यह पोस्टर उनके लिए भारी पड़ने लगा है। कांग्रेस पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस थमा दिया है।

इस मामले को लेकर शहर कांग्रेस कमेटी प्रयागराज के अध्यक्ष नफीस अनवर ने बताया कि पोस्टर उनके संज्ञान है। उन्होंने कहा, वरुण गांधी अभी भी भाजपा के सांसद हैं। कांग्रेस पार्टी को बदनाम करने के लिए साजिश रची गई है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि यदि 24 घंटे के भीतर संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया तो कार्रवाई की जाएगी। अनवर ने कहा, इरशाद अगर अपना पक्ष ठीक से पेश नहीं करते हैं तो उन्हें पार्टी की सदस्यता से बर्खास्त कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »