विलेन से बचने के लिए हीरो का इंतजार नहीं करती सान्या मल्होत्रा

विलेन से बचने के लिए हीरो का इंतजार नहीं करती सान्या मल्होत्रा

सुभाष शिरढोनकर

नितेश तिवारी द्वारा निर्देशित ’दंगल’ (2016) के साथ एक्टिंग कैरियर की शुरूआत करने वाली सान्या मल्होत्रा अब तक ’पटाखा’ (2018) ’बधाई हो’ (2018) ’फोटोग्राफ’ (2019) ’शकुंतला देवी’ (2020) ’लूडो’ (2020) और ’पगलट’ (2021) जैसी लगभग 07 फिल्मों में नजर आ चुकी हैं।

व्यक्तिगत कामयाबी के लिहाज से अब तक सान्या मल्होत्रा ने बेशक धूम नहीं मचाई हो, लेकिन उन्होंने अपने अभिनय के जरिए दर्शकों के दिलो दिमाग पर एक खास तरह की छाप छोड़ने की कोशिश अवश्य की है। इस इंडस्ट्री में आज उनकी पहचान, हर तरह के किरदार में जान फूंकने वाली एक्ट्रेस के रूप में होती है।

मूल रूप से दिल्ली की रहने वाली सान्या मल्होत्रा ने गार्गी कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद, बतौर डांस टीचर दिल्ली के एक स्कूल में जॉब किया। जिस वक्त वह कॉलेज में पढ़ती थीं, उन्होंने बाकायदा बेले नृत्य का प्रशिक्षण लिया था। सान्या की खासियत रही है कि वह किसी भी एक काम को करते हुए जल्दी ही बोरियत महसूस करने लगती हैं। शायद इसलिए उन्होंने डांस रियलिटी शो ’’डांस इंडिया डांस’ में हिस्सा लिया और शीर्ष 100 में जगह बनाने में सफलता भी प्राप्त की।

इसके बाद सान्या मल्होत्रा के मन में, फिल्मों में काम करने की हसरत जागी और उन्होंने सपनों की नगरी की ओर रूख किया और मुंबई आ गईं। यहां आकर उन्होंने ऑडिशन देने शुरू किए। ऑडिशन्स के दौरान वह कास्टिंग डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा के संपर्क में आई। मुकेश माध्यम बने तो सान्या को नितेश तिवारी की ’दंगल’ (2016) में आमिर की बेटी का किरदार मिल गया।

सान्या की पहली ही फिल्म बॉक्स ऑफिस के लिए रिकार्ड तोड़ कमाई करने वाली फिल्म साबित हुई। जानी मानी फिल्म क्रिटिक्स अनुपमा चोपड़ा ने सान्या के काम की प्रशंसा करते हुए अपने रिव्यूज में लिखा कि सान्या ने, अपने काम और किरदार के जरिए फिल्म की कहानी को मजबूती देने का काम किया। आमिर खान के होम प्रोडक्शन वाली, उनके सेक्रेटरी अद्वेत चंदन द्वारा निर्देशित ’सीक्रेट सुपरस्टार’ (2017) के लिए सान्या मल्होत्रा ने ’सैक्सी बलिये….’ गीत को कोरियोग्राफ किया।

’दंगल’ (2016) के दो साल बाद सान्या मल्होत्रा कैरियर की दूसरी फिल्म ’पटाखा’ (2018) में नजर आईं। दो बहनों की कहानी पर आधारित इस फिल्म के लिए भी सान्या के काम की खूब प्रशंसा हुई। फिल्म में उनके काम का शोर, अभी थमा भी नहीं था कि तभी ’बधाई हो’ (2018) आ गई। इसमें वह आयुष्मान खुराना के अपोजिट फीमेल लीड में थीं। उनकी यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छी खासी हिट साबित हुई।

’फोटोग्राफ’ (2019) में सान्या मल्होत्रा नवाजुद्दीन सिद्दीकी के साथ थीं। इसके लिए सान्या को सर्वश्रेष्ठ फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड के लिए नॉमिनेट किया गया। सान्या मल्होत्रा की अगली तीन फिल्में ’शकुंतला देवी’ (2020) ’लूडो’ (2020) और ’पगलट’ (2021) सिल्वर स्क्रीन के लिए बनाई गई थीं लेकिन कोविड-19 लॉक डाउन के चलते इन्हें ओ.टी.टी पर ऑन स्ट्रीम करना पड़ा।

शकुंतला देवी की बायोपिक ’शकुंतला देवी’ (2020) में विद्या बालन ने शीर्षक रोल निभाया था, जबकि सान्या उनकी बेटी अनुपम बनर्जी के किरदार में थीं। फिल्म में उनके काम को खूब पसंद किया गया। सान्या मल्होत्रा की इस बात के लिए प्रशंसा करनी होगी कि कामयाबी और काम पाने के लिए उन्होंने कोई शोर्टकट न अपनाते हुए अपने हार्ड वर्क से इस इंडस्ट्री में मुकाम बनाया है।

सान्या मल्होत्रा इस वक्त नेटफ्लिक्स के लिए बन रही ’मीनाक्षी सुंदरेश्वर’ कर रही हैं। विवेक सोनी द्वारा निर्देशित इस फिल्म में वह अभिमन्यु दासानी के अपोजिट नजर आएंगी। इसके अलावा विक्रांत मैसी और बॉबी देओल के अपोजिट वह ’लव होस्टल’ भी कर रही हैं।

सान्या मल्होत्रा अपने कैरियर को लेकर काफी खुश हैं। उनका कहना है कि वह खुद को खुशकिस्मत मानती हैं कि वह ऐसे दौर में इस इंडस्ट्री में काम कर रही हैं, जब फिल्म की हीरोइन विलेन से, खुद को बचाने के लिए, हीरो का इंतजार नहीं करती, बल्कि सीधे ही खुद विलेन के साथ भिड़ जाती है।

(युवराज)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »