खनन प्रेमी व घोषणावीर हैं भाजपा के नवनियुक्त मुख्यमंत्री धामी : सुरेन्द्र कुमार

खनन प्रेमी व घोषणावीर हैं भाजपा के नवनियुक्त मुख्यमंत्री धामी : सुरेन्द्र कुमार

देहरादून/ प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष व सलाहकार सुरेन्द्र कुमार ने भ्रष्टाचार व लोकायुक्त के मुद्दे पर पुष्कर सिंह धामी सरकार को घेरा। उन्होंने मुख्यमंत्री को खनन प्रेमी व घोषणावीर बताया। प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में बलाई गयी प्रेसवार्ता में उन्होने भाजपा सरकार के शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय द्वारा राज्य को लोकायुक्त की आवश्यकता नहीं है पर मुख्यमंत्री धामी से सवाल पूछा।

उन्होंने कहा कि धामी बताएं कि लोकायुक्त पर उनका क्या नजरिया है क्या वो शिक्षा मंत्री के बयान से सहमत है, क्या 2017 विधानसभा चुनाव भाजपा के घोषणा पत्र में सरकार बनते ही लोकायुक्त देने का वादा जनता के साथ धोखा था, क्या भाजपा ने अपने घोषणा पत्र को रदद्ी की टोकरे में डाल दिया है या अपने घोटालेबाजों को बचाने के लिए यह सब किया जा रहा है।

सबको याद है कि हरीश रावत के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा राज्यभवन भेजा गया लोकायुक्त कानून की अकाल हत्या राजभवन में की गई है। उन्होने कहा कि विधानसभा के सत्र में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष ने आपदा का हत्यारा किसे कहा था, सन ऑफ सरदार, पाली हाऊस घोटाला, जिस पर की भाजपा ने तीन दिन तक विधानसभा नहीं चलने दी थी वो कौन नेता लोग थे क्योकि जिन लोगों पर भाजपा नेताओं ने आरोप लगाये थे वों तो सब भाजपा में ही सुशोभित हो रहे हैं।

कुमार ने सरकार पर जुवानी हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार में जो भी नेता घोटालेबाज थे आज भाजपा में हैं और सरकार की शोभा बढ़ा रहे हैं। आगे अपने हमले को तेज करते हुए उन्होने आरोप लगाया कि तत्कालीन महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा पाटिल जी को दिल्ली राष्ट्रपति भवन जाकर 419 घोटालों के आरोप भाजपा के मुख्यमंत्रियों व सरकार पर लगाने वाले भी अब भाजपा में ही विराजमान है।

उन्होने भाजपा को चुनौती देते हुए कहा कि यदि हमारे मित्रगण चाहेंगे तो वो 419 घोटालों की फेरिस्त उनको भेजी जा सकती है। चाहें तो सोशल मीडिया, टीवी चैनल व चैराहें पर बहस करने के लिए वे तैया हैं। क्योंकि उनके केन्द्रीय गृहमंत्री भी चैराहे पर दो दो हाथ करना चाहते है।

उन्होने राज्य स्थापना दिवस 9 नवम्बर को मुख्यमंत्री द्वारा कि गई घोषणाओं को हरीश रावत के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा चलाई गई विभिन्न योजनाओं को नाम बदल कर घोषणा करने का आरोप लगाया और कहा कि मुख्यमंत्री जी घोषणावीर हो गये है क्योंकि उन्हें पता ही नही कि जिन योजनाओं को अपना बता रहे है वो तो पहले से ही चल रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »