दिल्ली : उपराज्यपाल सक्सेना पर आप का बड़ा आरोप, KVIC में बेटी को दिया ठेका

दिल्ली : उपराज्यपाल सक्सेना पर आप का बड़ा आरोप, KVIC में बेटी को दिया ठेका

नयी दिल्ली/ आम आदमी पार्टी (आप) ने बीते शनिवार को आरोप लगाया कि दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने केंद्रीय खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआइसी) में चेयरमैन रहते हुए अपने पद का दुरुपयोग किया और अपनी बेटी को मुंबई में खादी लाउंज के इंटीरियर डिजाइनिंग का ठेका दिया था। आप ने मांग की कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उन्हें तुरंत बर्खास्त करें। इस मुद्दे पर आप के दो राष्ट्रीय प्रवक्ताओं ने शुक्रवार को दोपहर प्रेसवार्ता की।

पहली प्रेसवार्ता आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने पार्टी के विधायक अखिलेशपति त्रिपाठी, ऋतुराज, प्रवीण कुमार, मदन लाल व दिनेश मोहनिया के साथ की तथा दूसरी प्रेसवार्ता आतिशी ने की। संजय सिंह ने भी मांग की कि सक्सेना के खिलाफ उनकी बेटी शिवांगी सक्सेना को कथित रूप से कानून का उल्लंघन करके अनुबंध देने के लिए कानूनी कार्रवाई शुरू की जाए।

सिंह ने आरोप लगाया कि एलजी वी के सक्सेना ने केवीआइसी अध्यक्ष के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान केवीआइसी अधिनियम 1961 के प्रावधानों का उल्लंघन किया और अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अपनी बेटी को मुंबई में एक खादी लाउंज के इंटीरियर डिजाइनिंग का ठेका दिया।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को सक्सेना को दिल्ली उपराज्यपाल के पद से तत्काल बर्खास्त करना चाहिए और उनकी बेटी को अवैध रूप से ठेका देने के लिए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

सिंह ने कहा कि आप अपने वरिष्ठ वकीलों के साथ विचार-विमर्श कर रही है और मामले में अदालत जाने की तैयारी कर रही है।उन्होंने कहा कि हम जल्द ही इस मामले में अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे।वहीं आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता आतिशी ने प्रेसवार्ता कर कहा कि केंद्र की मोदी सरकार और भाजपा से आम आदमी पार्टी की दो मांगें हैं, पहली उपराज्यपाल वीके सक्सेना के भ्रष्टाचार के दोनों मामलों की जांच के आदेश तुरंत दिए जाए। दूसरी जब तक जांच जारी है, तब तक इन्हें पद से हटाया जाए।

उन्होंने भी कहा कि वीके सक्सेना ने केवीआइसी के चेयरमैन रहते अपने पद का दुरुपयोग कर बेटी को खादी प्रीमियम लाउंज डिजाइन का ठेका दिया।कानून के मुताबिक केवीआइसी का कोई भी अधिकारी अपने परिवार के किसी सदस्य को ठेका नहीं दे सकता।इसके अलावा केवीआइसी के चेयरमैन रहते हुए वी के सक्सेना के दवाब में नोटबंदी के दौरान ब्लैक मनी को व्हाइट किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »