पटना की तर्ज पर बिहार के कई शहरों में खादी मॉल का हो रहा निर्माण : शाहनवाज

पटना की तर्ज पर बिहार के कई शहरों में खादी मॉल का हो रहा निर्माण : शाहनवाज

पटना/ बिहार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कोटे से बनाए गए उद्योग मंत्री और राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि वित्त वर्ष 2021-22 में प्रदेश के राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड को प्रशिक्षण मद में 1.25 करोड़ रुपये प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि पटना स्थित खादी मॉल की तर्ज पर राज्य के मुजफ्फरपुर, गया एवं अन्य शहरों में खादी मॉल का निर्माण हो रहा है।

पटना में बिहार राज्य खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के सिलाई-कढ़ाई प्रशिक्षण का उद्घाटन करते हुए महिला उद्यमियों और इस कार्य से जुड़ी महिलाओं को संबोधित करते हुए उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि खादी संस्था समिति के माध्यम से राज्य के विभिन्न जिलों में 43 केंद्रों पर एक से तीन माह का खादी सूत कताई, रेशमी सूत कताई, खादी बुनाई, रेशम बुनाई एवं ग्रामोद्योग इकाई में सिलई-कताई, साबुन निर्माण, लहठी निर्माण और आचार निर्माण सहित अन्य प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाना है। उन्होंने कहा कि आज से इस कार्यक्रम का प्रारंभ किया जा रहा है।

शाहनवाज ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के तहत रेल मंत्रालय के सहयोग से उद्योग विभाग ने खादी एवं ग्रामोद्योग वस्तुओं की प्रदर्शनी लगाने और इसके प्रचार-प्रसार के लिए पटना, गया, भागलपुर, दरभंगा और मुजफ्फरपुर में रेलवे स्टेशनों पर स्टॉल लगाकर बिक्री की व्यवस्था की गई है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 की स्थिति अनुकूल रहने पर माह अक्टूबर से खादी के उत्कृष्ट वस्त्रों एवं ग्रामोद्योग के प्रचार-प्रसार के लिए राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय खादी मेला और प्रदर्शनी का आयोजन किया जायेगा। इस कार्यक्रम के लिए खादी बोर्ड को एक करोड़ विभाग से प्राप्त हुआ है।

उन्होंने कहा कि खादी पुनरुद्धार योजना के अंतर्गत बिहार खादी संस्थाओं को संस्था के कार्य सुचारू रूप, चलाने तथा कच्चा माल सहित श्रमिकों के समय पर पारिश्रमिक भुगतान एवं अन्य भुगतान के लिए कार्यशील पूंजी चार प्रतिशत के ब्याज दर पर सात वर्षों के लिए उपलब्ध कराये जायेंगे। कार्यशील पूंजी के रूप में वित्त वर्ष 2021-22 में आधुनिक चरखा सात संस्थाओं को 68.78 लाख रुपये तथा कटिया चरखा के लिए छह खादी संस्थाओं 83.31 लाख रुपये उपलब्ध कराई गई है।

इधर उद्योग मंत्री ने अफगानिस्तान पर भी सरकार का पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान से पासपोर्ट होल्डर को भारत लाया जायेगा। भारत सरकार अफगानिस्तान के घटनाक्रमों पर बारीक निगाह रखे हुई है।

अफगानिस्तान के हालात पर चिंता व्यक्त करते हुए मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि तालिबान की भाषा जो वहां पर दिख रही है, वह गलत है। अफगानिस्तान में हालात बेहद चिंताजनक है। अफगानिस्तान से भारतीय मूल के लोगों को लाया जा रहा है। एक-एक भारतीयों को वहां से लाया जायेगा और साथ ही साथ अफगानिस्तान के अल्पसंख्यक हिंदू और सिखों को भारत लाया जायेगा। उनकी जान की सुरक्षा के दृष्टिकोण से देखते हुए भारत सरकार यह कदम उठाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »